Chat GPT kya hai / चैट जीपीटी क्या है?

आज के समय में टेक्नोलॉजी बहुत तेजी से बढ़ रही है। इंटरनेट पर Chat GPT की चर्चा बहुत तेजी से फैल रही है। इस नई  तकनीकी के बारे में लोग जानने के लिए लोग कुछ ज्यादा ही उत्सुक है। 

ज्यादातर विशेषज्ञों का कहना हैं कि यह गूगल सर्च इंजन को भी पीछे छोड़ सकता है। कुछ रिसर्च के अनुसार पता लगा है कि चैट जीपीटी से आप कुछ भी सवाल पूछते है तो जवाब आपको तुरंत लिखकर दिया जाता है।

आज के समय में इस टेक्नोलॉजी पर काम चल रहा है और जल्दी ही इसे लोगों तक पहुंचा दिया जाएगा। ज्यादातर लोगों ने इसे social Media user के तौर पर टेस्ट किया है तो उन्होंने इसमें पॉजिटिव रिस्पांस (Positive Response) दिये है। 

तो आई जानते हैं कि Chat GPT क्या है? और Chat GPT काम कैसे करता है?, क्या Chat GPT गूगल को टक्कर देगा? और कुछ अन्य जानकारी।

चैट जीपीटी का फुल फॉर्म चैट जेनरेटिव प्रिंटेड ट्रांसफार्मर है। यह आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के द्वारा लोच की गई है। इसे हम एक प्रकार का चैट बोट (Bot) भी कह सकते हैं। चैट जीपीटी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर काम करता है। आप इस टेक्नोलॉजी के अनुसार, सरल शब्दों में बात कर सकते है और अपने किसी भी प्रकार के सवाल का जवाब ले सकते है। इसे हम एक प्रकार का सर्च-इंजन भी कह सकते है।

यह टेक्नोलॉजी अभी लॉन्च हुई है इसलिए यह अभी अंग्रेजी भाषा में ही उपलब्ध है कुछ समय बाद इसे अन्य लैंग्वेजेज से जोड़ दिया जाएगा| आप चैट जीपीटी में सवाल लिखकर पूछते हो तो उस सवाल का जवाब चैट जीपीटी के द्वारा आपको प्रदान किया जाएगा।

चैट जीपीटी को 30 Nov 2022 में लॉन्च किया गया है और इसकी ज्यादा जानकारी chat.openai.com पर उपलब्ध है। इसे यूज़ करने वाले यूजर लगभग 2 मिलियन के आसपास है।

चैट जीवीटी का फुल फॉर्म (Full form of chat GPT)

Chat GPT यानी Chat Generative Pre-Trained Transformer हैं।

मतलब जैसे कि आप जब गूगल पर किसी चीज के बारे में सर्च करते हैं तो Google हमे उससे संबंधित अनेक प्रकार की साइट दिखाता है परंतु चैट जीपीटी इससे बिल्कुल अलग है यहां पर जब आप कोई भी सवाल करते हैं तो चैट जीपीटी आपको इस सवाल का डायरेक्ट जवाब देता है। और चैट जीपीटी टेक्नोलॉजी के द्वारा आपको निबंध, कवर लेटर, बायोग्राफी, एप्लीकेशन, वीडियो स्क्रिप्ट इत्यादि लिख कर दी जाती है।

चैट जीपीटी का इतिहास क्या है (What is the History of Chat GPT)

2015 में Sam Altman और एलन मस्क ने साथ मिलकर चैट जीपीटी की स्टार्टिंग की थी। परंतु 1 से 2 साल के बीच एलन मस्क ने इस प्रोजेक्ट को बीच में ही छोड़ दिया था।

परंतु उस समय बिल गेट्र्स की माइक्रोसॉफट कंपनी ने इसमें अच्छी अमाउंट का इन्वेस्टमेंट किया और साल 2022 में 30 नवंबर के दिन एक प्रोटोटाइप के तौर पर लाँच कर दिया गया।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के अनुसार इसके लगभग 20 मिलियन से अधिक यूजर तक अपनी पहुंच बना ली है और ज्यादातर इसके यूजर की संख्या बढ़ती जा रही है।

चैट जीपीटी कैसे काम करता है? (How Chat GPT works)

चैट जीपीटी बहुत ही सरलता से काम करता है। इसे ट्रेन करने के लिए डेवलपर के द्वारा इसके लिए पब्लिक तौर पर डाटा का यूज किया जाता है। उसी डाटा में से चैट जीपीटी आपके सवाल को सर्च करता है और उसका जवाब ढूंढ़ता है 

और उसके बाद जवाब को सही तरह से और सही लैग्वेज में कन्वर्ट करता है और उसके बाद रिजल्ट को आपके डिवाइस की स्क्रीन पर उपलब्ध कराता है।

चैट जीपीटी का इस्तेमाल कैसे करें ? ( How to use chat GPT? )

आपको सबसे पहले इसकी official website पर जाना होगा और अपना account create करना होगा। अकांउंट बनाने के बाद ही आप चैट जीपीटी का प्रयोग कर सकते हैं।

फिलहाल के समय में इसका इस्तेमाल मुक्त किया जा रहा है। परंतु भविष्य में हो सकता है कि इसके इस्तेमाल के लिए लोगों से सामान्य चार्ज लिया जाए।

क्या चैट जीपीटी गूगल को टक्कर देगा? ( will Chat GPT Kill Google? )

हिंदी और अंग्रेजी समाचार चैनलों और न्यूज वेबसाइट को खंगाल ने पर जो जानकारी हमें प्राप्त हुई है कि वर्तमान के समय में चैट जीपीटी के द्वारा गूगल को पीछे नहीं छोड़ सकता क्योंकि चैट जीपीटी के पास सिर्फ वर्तमान के समय की लिमिटेड इनफार्मेशन ही उपलब्ध है और चैट जीपीटी पर ज्यादा ऑपरेशन भी उपलब्ध नहीं है।

चैट जीपीटी के द्वारा सिर्फ उतनी ही इनफार्मेशन दी जाएगी जितना इसे जवाब देने के लिए ट्रैन किया गया है, वही देखा जाए तो Google के पास इसे कई अधिक डाटा उपलब्ध है। Google के पास दुनिया भर के अलग - 2 लोगों का डाटा उपलब्ध है इसलिए google के द्वारा आपको कई तरह की जानकारी ऑडियो (Audio), वीडियो (Video), फोटो (Photo) और टेक्स्ट(Text) में उपलब्ध कराई जाती है।

Leave a Comment