डिजिटल रुपया क्या है / What is Digital Rupee in India

आजकल देखा जा रहा है कि आमतौर पर ज्यादातर चीजे डिजिटल हो रही है जैसे :- हमे किसी को पैसे भेजने है तो हम डिजिटल टेक्नोलॉजी के जरिये पैसे भेज सकते है फिर हम उस व्यक्ति से कितने ही दूर हो। 

तो digital rupee नोट और शिक्को का डिजिटल या इलेक्ट्रॉनिक रूप है डिजिटल रूपया आने से आपको अपने पास नोट या सिक्के रखने की आवश्यकता नहीं होगी।

किसी वस्तु या किसी अन्य लेनदेन के लिए आप digital rupee का इस्तेमाल कर सकते है। इसमें फर्क यह है क़ि आपको इसमें लेनदेन ऑनलाइन मतलब डिजिटल करना पड़ेगा। 

Digital rupee एक ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी है भारतीय रिज़र्व बैंक ने डिजिटल इकनोमिक को बढ़ावा देने के लिए रिटेल डिजिटल रुपया लांच किये है जिससे लेनदेन करने का एक नई बिकल्प मिलेगा ।

अब आपको जेब में कैश और सिक्के लेकर नहीं चलना पड़ेगा।क्योकि भारतीय रिजर्व बैंक ने खास उपयोग के लिए डिजिटल रुपया (e-rupee)  का पायलट लांच कर दिया है। 

Digital rupee रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया क़ि डिजिटल करेंसी है तो चलिए आम भाषा में जानते है क़ि digital rupee क्या है । यह करेंसी कैसे काम करती है और यह कैसे फायदेमंद है और इसका इस्तेमाल क्या है इससे पेमेंट कैसे करे और कुछ अन्य जानकारी ?

रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने पायलट प्रोजेक्ट के तोर पर digital rupee  का प्रयोग किया है वैज्ञानिक का कहना है क़ि यह आने वाले टाइम में देश क़ि डेवलपमेंट में लाभ कारी साबित होगा। 

रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया होलसेल ट्रांसक्शन और क्रेओस-बॉर्डर ट्रांसक्शन्स के लिए इस डिजिटल करेंसी का उपयोग करेंगे। digital rupee से सरकार के हर साल के क्रोरो रुपये जो नोट छपने में लगते है वो बच जायेंगे और उनको लाभ भी होगा। 

डिजिटल करेंसी से नखली करेंसी पर रोक- थाम करने में मदद मिलेगी।आज देश में रुपीये को एक जगह से दूसरी जगह  ले जाने में काफी पैसे खर्च होते है डिजिटल करेंसी से इन समस्याओं का निवारण होगा ।

डिजिटल रुपया कहे या इ-रुपया बात एक ही है यह रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया  (RBI) की अपनी करेंसी है जो खास लेनदेन के लिए उपयोग क़ि जाएगी। डिजिटल रुपया के आने से आपको नोट या सिक्के रखने क़ि आबश्यकता नहीं है।

आप इस करेंसी के माध्यम से लेनदेन कर सकते है पर आपको अपने लेनदेन ऑनलाइन या डिजिटल करेंसी से करने होंगे। डिजिटल रुपया ब्लॉकचैन  की टेक्नोलॉजी है।

Digital Rupee कहाँ  से मिलेगा ?

रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने पायलट प्रोजेक्ट के जरिये 8 बैंको में डिजिटल रुपया करेंसी को उपलब्ध कराया है कुछ बैंको के नाम है स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI), आईसीआईसीआई बैंक (ICICI BANK)  , यस बैंक (YES BANK) , इत्यादि है।

डिजिटल रूपया आप आपने बैंकों के ऐप या वेबसाइट से खरीद सकते है। इसके लिए ग्राहकों को मोबाइल या किसी अन्य डिवाइस में बैंकों के जरिए एक डिजिटल वॉलेट उपलब्ध कराया जाएगा। ग्राहक अपने बैंक के वॉलेट में डिजिटल करेंसी रख सकेंगें।

Digital Rupee से किस तरह लेनदेन कर सकते है।

आप इस e-rupee से व्यक्ति-से व्यक्ति (P2P) था व्यक्ति से व्यापारी (P2M) के बीच डिजिटल रूपये से लेन देन कर सकते हैं।

Digital Rupee से पेमेंट कैसे करेंगे।

जब आप दुकान पर कोई वस्तु खरीदनें जाए तो दुकानदार और सोदागर आपको एक QR कोड देगा। जिसे स्कैन करके आप अपने डिजिटल वॉलेट से ई-रूपी सेपेमेंट करेगें।

क्या Digital Rupee सभी जगहों पर मान्य होगा।

हाँ बिल्कुल, जैसे RBI की ओर से जो नोट उपलब्ध कराए जाते है वह हर जगह मान्य होते है वैसे ही डिजिटल रूपया भी लीगल टेंडर होगा। और यह हर   जगहों पर  स्वीकार होगा।

Digital Rupee आम जनता तक कैसे पहुचाया जाएगा?

डिजिटल रूपया डिस्ट्रीब्यूशन बैंको के द्वारा पहुचायाँ जाएगा। बैंको के डिजिटल वॉलेट के जरिए व्यक्ति -से- व्यक्ति (P2P) और व्यक्ति-से -मर्चेट (P2M) में लेनदेन किये जाएगें।

क्या Digital Rupee ब्लैकमनी पर भी लगाम लगाएगा ?

डिजिटल रूपया के द्वारा की गई कोई भी ट्रांजेक्शन सरकार की नजर में रहेगी। कोई व्यक्ति इस डिजिटल रूपया की ट्रांजेक्शन को छुपा नहीं सकता। हाँ, Digital रूपमा पर ब्लैकमनी  को रोकने में लाभ करी रखेगा।

क्या Digital Rupee और क्रिप्टो करेसी एक ही है?

जी बिल्कुल नहीं, डिजिटल रूपया और क्रिप्टो  करेंसी दोनों एक दूसरे से बिल्कुल अलग है। क्रिप्टो करेंसी को रेगुलेट नहीं कर सकते परंतु डिजिटल रूपया (RBI) के नियंत्रण में है या ये इसके जरिये रेगुलेट किया जाता है।

Leave a Comment